me>

राज्यसभा चुनाव में भाजपा को ये सहयोगी दल दे सकता है झटका

इस हार के बाद भाजपा आगामी 23 मार्च को होने वाले राज्यसभा चुनाव में परचम लहराने की फिराक में है लेकिन चुनाव से पहले ही भाजपा के लिए एक और बुरी खबर सामने आ रही है.

0
70
बीजेपी, प्रतीकात्मक

लखनऊ: भाजपा को आज कल झटके पर झटके मिलते जा रहे है. उत्तर प्रदेश और बिहार उपचुनाव में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है. सबसे बड़ा झटका तो गोरखपुर और फूलपुर के चुनाव में जनता ने भाजपा को दिया है जहां क्रमशः मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री दोनों की सीटों पर भाजपा हार गयी है.

इस हार के बाद भाजपा आगामी 23 मार्च को होने वाले राज्यसभा चुनाव में परचम लहराने की फिराक में है लेकिन चुनाव से पहले ही भाजपा के लिए एक और बुरी खबर सामने आ रही है.

राज्यसभा चुनाव से पहले ही योगी सरकार में मंत्री और सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने बगावती तेवर दिखाते हुए बयान दिया है. ओमप्रकाश राजभर ने कहा ‘हम अभी यह कैसे फाइनल कर सकते हैं कि हम राज्यसभा चुनावों में भाजपा को समर्थन करेंगे या फिर किसी अन्य दल को. हमें अभी इसपर अंतिम फैसला लेना है.’

उन्होंने भाजपा पर नारजगी जाहिर करते हुए कहा ‘हम अभी भी भाजपा के साथ गठबंधन में है लेकिन उन्होंने एक बार भी फूलपुर और गोरखपुर में उम्मीदवार खड़ा करने से पहले हमसे मशविरा नहीं लिया और न ही चुनाव में हमारी भूमिका के बार में कोई बात की.’

आपको यहां बता दें कि भाजपा के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ने वाली सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के चार विधायक हैं जो आगामी राज्यसभा चुनाव में भाजपा का खेल बिगाड़ सकते हैं.

 

यूपी की 10 राज्यसभा सीटों पर चुनाव होने हैं जिसमें भाजपा ने अपने 9 उम्मीदवार खड़े किए हैं. 8 पर बीजेपी जीत के लिए आश्वत है जबकि 2 सीटों पर सपा-बसपा जीत के लिए आश्वत हैं. जिस 9वें कैंडिडेट को भाजपा ने खड़ा किया है उसकी जीत और हार अब सुभासपा के विधायकों के मतों से तय होगी. हालांकि 9वीं सीट पर सुभासपा भाजपा को समर्थन करेगी या नहीं इस पर पार्टी ने अपने पत्ते अभी तक नहीं खोले हैं.

 

ये है उत्तर प्रदेश विधानसभा में दलों की स्थिति-

403 सदस्यीय राज्य विधानसभा में भाजपा के 311, अपना दल (एस) के 09, सुभासपा के 04 विधायक हैं. इस तरह से सत्तापक्ष के पास कुल 324 विधायक हैं.

विपक्ष के खेमे में समाजवादी पार्टी के 47, बसपा के 19, कांग्रेस के 07, राष्ट्रीय लोकदल का एक, निषाद पार्टी का एक और तीन निर्दलीय विधायक हैं. यही विधायक राज्यसभा की रिक्त हुई 10 सीटों के लिए नये सदस्यों का चुनाव करेंगे.

हमसे जुड़ने के लिए jiopost.com के फेसबुक पेज को लाइक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here