नुक्कड़ नाटक से दिया तंबाकू उपयोग नहीं करने का संदेश

तंबाकू सेवन व विद्यार्थी जीवन दोनेां का कोई रिश्ता नही है.

0
303

Gurugram: स्कूली बच्चों ने आमजनता को तंबाकू के खतरों से जागरुक करने के लिए दस्तक कार्यक्रम के तहत नुक्कड़ नाटक किया. शिक्षा निदेशालय की ओर से सम्बन्ध हैल्थ फांउडेशन व फोर्टिस फाउंडेशन के साथ मिलकर तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान परिसर बनाने के लिए दस्तक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इसके तहत कार्टरपुरी के राजकीय सीनियर सैकंडरी विद्यालय में नुक्कड़ नाटक आयोजित किया गया.

सम्बन्ध हैल्थ फांउडेशन के सीनियर प्रोजेक्ट मैनेजर डा.सोमिल रस्तोगी ने बताया कि तंबाकू व अन्य धूम्रपान उत्पादों में निकोटिन होता है जो कि हेरोइन से भी अधिक खतरनाक होता है. इनमें केवल 5 प्रतिशत से कम लोग ही निकोटिन को छोड़ पाते है. इसलिए हम सभी को मिलकर इसके लिए सकारात्मक ढंग से काम करना होगा. निकोटिन कम उम्र के बच्चों पर जल्दी असर करता है, इसलिए शिक्षण संस्थाओं में इस तरह की गतिविधियों से जागरुकता आयेगी, जिसका असर परिवार व समुदाय तक रहेगा.

डा.रस्तौगी ने बताया कि इसके साथ ही तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान अभियान के तहत चलने वाले दस्तक कार्यक्रम में होने वाली गतिविधियेां में सर्वे हो रहा है. जिसमें शिक्षण संस्थानेां में कक्षा 8 से 12 तक अध्ययनरत बच्चों के द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में तंबाकू सेवन करने वालों का आयुवार सर्वे किया जा रहा है.

इस अवसर पर प्रिंसीपल अनिता रानी ने विद्यार्थियेां से स्कूल परिसर व बाहर कभी भी तंबाकू का सेवन न करने की सलाह दी. इससे विद्यार्थियेां की पढ़ाई में एकाग्रता नही आती, इसलिए उनको इस प्रकार के नशों से दूर रहना चाहिए. तंबाकू सेवन व विद्यार्थी जीवन दोनेां का कोई रिश्ता नही है.

स्कूल के विद्यार्थियेां ने नुक्कड़ नाटक में चिकित्सक, तंबाकू उपयोगकर्ता व सामान्य जनता का किरदार निभाते हुए ऐसे उत्पादों का सेवन न करने की सलाह दी. इसके साथ ही तंबाकू सेवन से होने वाली बीमारियां व उसके प्रभाव के बारे में जानकारी दी. नुक्कड़ नाटक के माध्यम से विद्यार्थियों को तंबाकू व अन्य धूम्रपान उत्पादों के सेवन से होने वाले दुष्प्रभावों की जानकारी दी गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here